होली मेले में झूलों के ठेकेदारों द्वारा वसूले जा रहे मनमाने रेट …  टिकट पर रेट न प्रकाशित होने का मामला आया सामने

820

होली मेले में झूलों के ठेकेदारों द्वारा वसूले जा रहे मनमाने रेट …
टिकट पर रेट न प्रकाशित होने का मामला आया सामने
पांवटा साहिब
पांवटा साहिब होली मेले में झूलों की दरों में झूलों के ठेकेदारो द्वारा लोगों से मनमानी दरे वसूली जा रही है। जिससे लोगों की जेबों पर अतिरिक्त बोझ पड रहा है और झूलों के ठेेकेदार मालोंमाल हो रहे है। बता दे कि नगर परिषद पांवटा साहिब के द्वारा झूले के ठेकेद्वारों से झूले की दरे निर्धारित की थी। जिसमें छोटा झूला बच्चों का 40, बडा झूला 60, किस्ती 60, मौत का कुआं 60, अन्य 30 व रैजर 60 रूपये के हिसाब से दरे निर्धारित की थी।

बावजूद इसके झूले के ठेकेदार के कर्मचारियों के द्वारा मनमाने रेट वसूले जा रहा हैैै। जिसमें ग्राहको को पहले तो उनके द्वारा टिकट नही दी जाती व पैसे लिए जाते व टिकट मांगने पर आगे बढ जाने के लिए कहा जाता है। यदि उनके द्वारा टिकट दिया भी जाती है तो उस पर कही भी रेट प्रकाशित नही किया गया है।

गौरतलब है कि ठेकेदार के द्वारा मनमर्जी के दाम वसलने के मकसद अपनी अधिकतम बोली को पूरा करना है। झूलों के ठेकेदार ने इस बर्तबा 75 लाख रूपयें में झूलों की बोली लगा कर नप से झूलों को अपने नाम किया है। और आम जनता की जेब पर अतिरिक्त बोझ डालकर उन्हें लूटा जा रहा है। जिसमें साफ जाहिर होता है कि कही न कही नगर परिषद के द्वारा उच्चतम बोली देना भी इस काले कारनामे का जिम्मेदार है।